suhana_saavan
 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

सुहाना सावन

भौरों की होती गुंजार यहां, चिडियो की चहक निराली है, सूरज की चमक भी मद्दम है, छाई घनघोर छटा निराली…

वास्तविकता
 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

REALITY- भागे तो थे

हम तो तन्हा दूर ही थे तुमसे, बस दिल में पास आने के अरमान जागे तो थे, रह गये इतने…

definition of poet
 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

कवि

शब्दों को पिरोना और गूंथ देना एक माले की तरह । आसां नहीं है इस जग में, यूं शब्दों से…

to gussa aata hai
 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

तो गुस्सा आता है

बडी बडी बातें करनें वालों की बात आगर करता हूँ,तो गुस्सा आता है। देश का किसान हर पल झूल रहा…

 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

राज की राजनीति

राज की जो राजनीति करेगा, वह ज्यादा टिक न पाएगा। आखिर लकडी की हांडी को कब तक भटठी चढाएगा,दूध से…

बेरोजगारी
 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

बेरोजगारी

बेरोजगारी का यह आलम, दुनिया का हर कोना है, पढो लिखो फिर दर दर भटको युवाओं का यह रोना है…

 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

जीवन संघर्ष

कहते हैं कहने वाले कि, जीवन को संघर्ष न मानो, बहुत कुछ कर सकते हो, तुम अपने को पहचानो, पहचानूं…

 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

सच्चाई क्या है

there is some problem . problem will resolve soon.

 Leave a comment
 Continue Reading...
Posted in hindi poems

पुलिस क्या है

पुलिस वह है जो हर जरूरत मंद के साथ खडी है परिस्थिति चाहे जैसी भी हो अपनी बात पे अडी…